कोई अज़्म ओ इरादा नहीं चाहिए..

कोई अज़्म-ओ-इरादा, नहीं चाहिए
आपसे कोई वादा, नहीं चाहिए,


आपकी रुह में, इश्क़ बनकर रहूँ
इससे कुछ भी ज़ियादा, नहीं चाहिए

~ आँचल सक्सैना

Leave a Reply

%d bloggers like this: