आओ बाँट ले सब दर्द ओ अलम…

आओ बाँट ले सब दर्द ओ अलम
कुछ तुम रख लो, कुछ हम रख ले
अब पोंछ ले हम अपने आँसू
कुछ तुम रख लो, कुछ हम रख ले,

हम साथ रहे और हम साथ चले
हम साथ जिएँ और साथ मरे
इस राह ए वफ़ा पे अपने क़दम
कुछ तुम रख लो, कुछ हम रख ले,

माना कि दुखो से तुम हो भरे
और हम भी ख़ाली हाथ नहीं
ये ज़ुल्म ओ सितम तुम्हे मेरी क़सम
कुछ तुम रख लो, कुछ हम रख ले,

बे दर्द ज़माने वाले जो कुछ
कहते है तो इनको कहने दो
बेलौस तमन्नाओ का भरम
कुछ तुम रख लो, कुछ हम रख ले..!!

Leave a Reply

%d bloggers like this: